स्‍थापना दिवस पर AJSU का गठबंधन सरकार पर हमला, Sudesh Mahto बोले- दावों के विपरीत हेमंत सरकार हर मोर्चे पर फेल

by

Ranchi: आजसू पार्टी ने मंगलवार को पूरे झारखंड में संकल्प दिवस मनाया. संकल्प दिवस के अवसर पर आजसू पार्टी के द्वारा अलग-अलग जगहों पर रक्तदान एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. रांची स्थिति केंद्रीय कार्यालय में भी रक्तदान शिविर लगाया गया. कार्यक्रम का शुभारंभ आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने किया. कार्यक्रम की शुरुआत कोरोना से जान गवाने वाले दिवंगत आत्माओं एवं झारखंड के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने से हुई.

संकल्प दिवस के अवसर पर संबोधित करते हुए आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा कि आजसू पार्टी ने समर्पण की गाथा को आगे बढ़ाते हुए पूरे प्रदेश की जिला इकाइयों और जहां सम्भव हो पाया उन प्रखंड इकाइयों में भी रक्तदान शिविर का आयोजन किया. साथ ही आज पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पूरे राज्य में वृक्षारोपण भी किया.

वृहद झारखंड के लिए ओडिसा में जनमत संग्रह करेगी आजसू

उन्होंने कहा कि बंगाल में जो जनमत आया है उससे वृहद झारखंड की सोच को पुनर्स्थापित करने को लेकर बल मिला है. आजसू पार्टी ने यह तय किया है कि झारखण्डी भावना वाला जो हिस्सा है, जो ना केवल भौगौलिक रुप से अपितु सामाजिक रुप से भी झारखंड से मेल खाता है, उनके हक और अधिकार के लिए बड़े आंदोलन का नेतृत्व करेगी. साथ ही उन्होंने कहा कि ओड़िसा का वो हिस्सा जो वृहद झारखंड क्षेत्र में आता है वहां भी आजसू पार्टी जनमत संग्रह करेगी.

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

कोविड संकट से निपटने में हेमंत सरकार विफल

कोविड संक्रमण और उससे उपजी समस्याओं को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार इस संकट से लड़ने में पूर्ण रुप से विफल रही और सरकार का पूरा महकमा इस संकटकाल में असंगठित दिखा. इन समस्याओं से लड़ने के लिए कोई ठोस रुपरेखा अभी तक तैयार नहीं हुई है. जनता को इस संकट से निकालना और उनके लिए दूरगामी प्रयास करना सरकार का मूल दायित्व है लेकिन इसके विपरीत झामुमो महागठबंधन की सरकार कोविड के नाम पर समय काट रही है.

सत्ता में आने से पहले झामुमो ने हर साल पांच लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी. लेकिन पिछले डेढ़ वर्षों का अनुभव बताता है कि झामुमो महागठबंधन सरकार के तमाम दावों के विपरीत बेरोजगारी विकराल रुप धारण कर चुकी है. सरकार का सभी दावा केवल खोखला साबित हो रहा है. साथ ही पिछले चौदह महीने से सरकारी स्कूल बंद चल रहे हैं. सरकार और शिक्षा विभाग बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाने का दावा करती है लेकिन हकीकत के धरातल पर तस्वीर इससे उलट ही नज़र आती है. ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं होने के कारण लाखों विद्यार्थी पढ़ाई से दूर जा चुके हैं.

Read Also  Electric Car खरीदने के लिए अधिक खर्च करने को तैयार हैं 90% कस्‍टमर

सड़क पर आंदोलन करेगी आजसू पार्टी

उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी के सभी सभी नेता अपने-अपने क्षेत्र में ऐसे लोगों की सूची तैयार करने का कार्य कर रहे हैं जिनकी मृत्यु कोरोना की वजह से हुई है. उन्होंने कहा कि इन परिवारों को न्याय दिलाने और उनके हक के लिए निर्णायक लड़ाई लड़ने के लिए आजसू पार्टी दृढसंकल्पित है. आजसू पार्टी मृतकों के परिवार के भविष्य की चिंता करती है और उनको मुआवजा दिलाने, भविष्य के लिए आजीविका सुनिश्चित कराने तथा बच्चों के लिए पठन-पाठन की व्यवस्था करने के लिए हर संभव प्रयास करेगी और सदन से लेकर सड़क तक आंदोलन करेगी.

झामुमो महागठबंधन की सरकार को संकुचित दृष्टि वाली सरकार बताते हुए उन्होंने कहा कि राज्य के पिछड़ो और अनसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों को भविष्य के कार्यक्रमों से जोड़ा नहीं जा रहा है. अतः ऐसी परिस्थिति में झारखंड के दबे-कुचलों लोगों को एकजुट कर भविष्य के लिए वृहत कार्यक्रम तैयार किये जायेंगे और साथ ही साथ आजसू पार्टी इस प्रदेश की बुनियादी विषयों का नेतृत्व भी करेगी.

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

साथ ही सदस्यता अभियान को लेकर उन्होंने कहा कि आजसू पार्टी ने पूरे राज्य में एक लाख सक्रिय सदस्य तथा दस लाख साधारण सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा है. कोरोना की दूसरी लहर के कारण सदस्यता अभियान अपने निर्धारित समय पर पूर्ण नहीं हो पाया लेकिन जैसे ही स्थिति सामान्य होगी अभियान को पुनः गति दी जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.