राजनीति के लिए टूटा सब्र का बांध, आजसू ने उड़ाई कोविड गाइडलाइन की धज्जियां

by

Ranchi: झारखंड में विधानसभा का 2021 मॉनसून सत्र शुरू हो चुकी है. इसी के साथ झारखंड की क्षेत्रीय राजनीतिक संगठन आजसू पार्टी भी रेस हो गई है. 6 सितंबर को आजसू पार्टी द्वारा नोट जारी कर बताया गया कि पार्टी के द्वारा रांची के मोरहाबादी मैदान में हजारों की संख्‍या में आजसू कार्यकर्ता जुटे.

मोरहाबादी मैदान में बोकारो, गिरिडीह, हजारीबाग, पश्चिमी सिंहभूम, गढ़वा, धनबाद, चतरा और पलामू जिले से आजसू के कार्यकर्ता जुटे थे. तस्‍वीरों में देखा जा सकता है कि किस तरह से कोविड गाइडलाइन की धज्जियां उड़ीं. यहां सोशल डिस्‍टेसिंग कहीं नहीं दिखा. ज्‍यादातर आजसू कार्यकर्ताओं के चेहरे से फेसमास्‍ट नदारद है.

30 जून 2021 को झारखंड सरकार द्वारा कोविड गाइडलाइन जारी किया गया था. इसके मुताबिक राज्‍य में धरना-जुलूस और प्रदर्शन पर रोक है. कहीं भी एक साथ 50 लोगों से ज्‍यादा इकट्ठा नहीं हो सकते.

इसके पहले सत्‍ताधारी दल कांग्रेस और राजद के द्वारा भी रांची के मोरहाबादी मैदान में प्रदर्शन हुए हैं. इस दौरान सरकार के मंत्री और विधायकों के द्वारा भी कोविड गाइडलाइन का खुल्‍लम खुल्‍ला उल्‍लंघन हुआ है. लेकिन इनके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई. अब आजसू पार्टी इससे चार कदम आगे है. जहां दो-चार सौ की भीड़ होती थी. अब आजसू द्वारा हजारों की भीड़ बुलाई जा रही है. अभी आजसू का यह कार्यक्रम चरणबद्ध तरीके से रहेगा.

Read More: कोरोना काल में धरना-प्रदर्शन पर रोक, फिर मंत्री-विधायकों को मोरहाबादी में भीड़ जुटाने की अनुमति किसने दी?

अस्‍पतालों में बच्‍चों के वार्ड बीमार बच्‍चों से भरे

5 सितंबर को रांची से प्रकाशित होने वाले अखबार दैनिक भाष्‍कर में एक रिपोर्ट छपी है. ‘रांची, टाटा और धनबाद में शिशु वॉर्ड फुल, 7 दिन में नहीं उतर रहा वायरल बुखार…’ यह खबर ऐसे ऐसे राजनीतिक आयोजनों में होने वाली लापरवाही के लिए एक चेतावनी है. खबर में चिंता जाहिर करते हुए कहा गया है कि डॉक्‍टरों के मुताबिक ज्‍यादातर बच्‍चे बुखार, सर्दी खांसी की शिकायत लेकर आज रहे हैं. इनमें कोरोना जैसे लक्षण हैं लेकिन रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हो रही है. ऐसे बच्‍चों से तीनों शहरों के अस्‍पतालों में बच्‍चों के वॉर्ड फुल हैं.  रिम्‍स के शिशु वॉर्ड में 70 सामान्‍य बेड और एनआईसीयू, पीआईसीयू के सभी 31 वॉर्ड फल हैं. यहां ज्‍यादातर 5-12 साल के बीमार बच्‍चे भर्ती हैं. यही हाल धनबाद और जमशेदपुर के अस्‍पतालों में है.

ढोल नगाड़ों के साथ रांची पहुंचे आजसू कार्यकर्ता

पिछड़े वंचित के हक अधिकार दिलाने के नाम पर आजसू पार्टी की ओर से रांची के मोराबादी मैदान में भीड़ जुटाई गई. सोमवार को राज्य के आठ जिलों से हजारों कार्यकर्ता समर्थक सीएम के नाम हस्ताक्षरयुक्त स्मरण पत्र लेकर रांची पहुंचे थे.

रांची के मोराबादी मैदान स्थित बापू वाटिका से ढोल-नगाड़े की गूंज के बीच कार्यकर्ता सीएम सचिवालय जाने के लिए आगे बढ़ रहे थे, लेकिन पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर रोकने की कोशिश की. यह अभियान आठ सितंबर तक चलेगा. सीएम के नाम स्मरण पत्र अधिकारियों को सौंपा गया.

जुलूस में आजसू पार्टी के नेताओं  के बोल

इस मौके पर पूर्व मंत्री उमाकांत रजक ने कहा कि पिछड़े और वंचित को उनका हक अधिकार दिलाने की यह लड़ाई तेज होगी. चुनाव से पहले सत्तारूढ़ दलों ने पिछड़ा आरक्षण बढ़ाने का वादा किया था, लेकिन सत्ता में आते ही अनदेखी की जाने लगी. पौने दो साल से वादाखिलाफी जारी है. साथ ही सरकार की मंशा स्पष्ट नहीं है. उन्होंने कहा कि पुलिस बल लगाकर बड़ी आबादी की आवाज दबाई नहीं जा सकती.

पार्टी विधायक डॉ लंबोदर महतो ने कहा है कि आजसू पार्टी इन मुद्दों पर सबसे ज्यादा मुखर रही है और संघर्ष किया है. पार्टी इस मांग के पूरी होने तक संघर्ष जारी रखेगी. दरअसल राज्य के पिछड़ों को उनका वाज़िब हक़ नहीं मिल रहा. जबकि आरक्षण सिर्फ आर्थिक नहीं प्रतिनिधित्व और भागीदारी का भी सवाल है.

पूर्व विधायक शिवपूजन मेहता ने कहा कि आजसू पार्टी पिछड़ों को नौकरियों/शैक्षणिक संस्थानों में नामांकन में उनका वाज़िब हक़ दिलाएगी. सरकार को जगाने के लिए सामाजिक न्याय यात्रा के जरिए गांव-गांव में लोगों से मुख्यमंत्री के नाम स्मरण पत्र पर हस्ताक्षर कराया गया है.

किन जिलों से पहुंचे थे कार्यकर्ता

बोकारो, गिरिडीह, हजारीबाग, पश्चिमी सिंहभूम, गढ़वा, धनबाद, चतरा तथा पलामू.

गोमिया विधानसभा के विधायक लम्बोदार महतो, पूर्व मंत्री उमाकांत रजक, पूर्व विधायक शिवपूजन मेहता, डॉ देवशरण भगत, रोशनलाल चौधरी, राजेंद्र मेहता, हसन अंसारी, नजरूल हसन हासमी, मंटू महतो, विकास राणा, सतिश कुमार, तिवारी महतो, मनोज चंद्रा, यशोदा देवी, बिकेश शुक्ला, पारसनाथ सिंह, दुर्गाचरण महतो, विनय चांडेल, नवीण महतो, टिकैत महतो, सचिन महतो, हरिश कुमार इत्यादि कार्यक्रम को नेतृत्व कर रहे थे. रांची महानगर एवं आजसू छात्र संघ आये हुए प्रतिनिधियों का जोरदार तरीके से स्वागत किए.

7 सितंबर को रामगढ़, गोड्डा, कोडरमा, देवघर, दुमका, जामताड़ा, साहिबगंज, पाकुड़ से पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता समर्थक सीएम के नाम हस्ताक्षरयुक्त स्मरण पत्र लेकर रांची पहुंचेंगे. कार्यक्रम सामाजिक न्याय मार्च मोराबादी स्थित बापू वाटिका से मुख्यमंत्री सचिवालय जाएगी और स्मरण पत्र सौंपेगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.