आजसू ने बीजेपी को दी गठबंधन की आमने-सामने समीक्षा करने की चुनौती

#RANCHI: आजसू पार्टी के प्रधान महासचिव और विधायक रामचंद्र सहिस ने कहा है कि भाजपा शौक से गठबंधन की समीक्षा करे. आजसू पार्टी यह भी चाहेगी कि आमने-सामने बैठकर स्थिति की समीक्षा हो, ताकि हम बता सकें कि कैसे झारखंडी भावना और जरूरतों की अनदेखी की जा रही है.

सरकार के मंत्री सीपी सिंह द्वारा इस मसले पर मीडिया से  की गई बातचीत पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए विधायक सहिस ने कहा है कि पार्टी अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो लगातार सरकार की नीतियों और जनहित के मुद्दों पर सकारात्मक फैसले लेने का आग्रह करते रहे हैं, लेकिन हालात अच्छे नहीं हैं.

मंत्री सीपी सिंह के द्वारा यह कहना कि आजसू पार्टी एनडीए का बहुत बड़ा घटक नहीं है, तो उन्हें यह स्पष्ट करना चाहिए कि उसे गठबंधन में किस हैसियत वाले दल की जरूरत है. उन्हें शायद वर्ष 2000 याद नहीं है जब एक अकेला विधायक सुदेश महतो के समर्थन से बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनी थी. 2005 तो उन्हें निश्चित हीं याद होगा कैसे आजसू ने एनडीए की सरकार बनवायी थी . आज आजसू की सकारात्मक सोच का हीं परिणाम है की राज्य में पहली बार स्पष्ट बहुमत की सरकार बनी. विकास का एजेंडा सिर्फ भाजपा के लिए ही सर्वोपरि नहीं है. आजसू हर मामले में ज्यादा इमानदार रही है. चाहे वो गठबंधन धर्म का मामला हो, विकाश का मामला हो या झारखंड के आदिवासियों मूलवासियो के हित का मामला हो. झारखंड के आदिवासियों मूलवासियो की भावना को नज़रअन्दाज़ नहीं किया जा सकता है.

सहिस ने यह भी कहा है कि झारखंड में भाजपा और सरकार खुद को दमदार स्थिति में आंकती है, तो उसमें आजसू का अहम सहयोग भी शामिल है. लेकिन वर्तमान सरकार ने झारखंडी हितों की लगातार अऩदेखी करती रही है. झारखंड को गिरवी रखने वालों ने महागठबन्धन बनाकर फिर एकबार राज्य को विनाश के गर्त में ढकेलने का प्रयास शुरू किया है. आजसू उनकी मंशा में भी उन्हें सफल नहीं होने देगी. इसलिए आजसू ने स्थिति की समीक्षा का फैसला लिया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.