AC को लेकर सरकार ने जारी की एडवायजरी, जानें कितना होना चाहिए आपके रूम का तापमान

by

New Delhi: कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप और चिलचिलाती गर्मी को देखते हुए सरकार ने रिहायशी इलाकों, अस्पतालों और कार्यालयों में एयर कंडीशनरों (AC) के इस्तेमाल को लेकर एक एडवायजरी जारी की है.

दरअसल, एसी एक कमरे के बीच की हवा को घुमा कर (री-सर्कुलेट) दोबारा ठंडा करने के नियम पर काम करता है. देश की मौजूदा स्थिति में लोगों के मन में शंकाएं थीं कि स्थानों जैसे कि मॉल, कार्यालय, अस्पताल आदि में इसके प्रयोग से बीमारी फैलने का खतरा बढ़ सकता है.

एडवायजरी के मुताबिक कमरे का तापमान 24 डिग्री सेल्सियस से 30 डिग्री सेल्सियस के बीच होना चाहिए.

जबकि आद्रता (Humidity) का स्तर 40 से 70 प्रतिशत के बीच होना चाहिए. फिलटरों को साफ रखने के लिए समय-समय पर एसी की मरम्मत करवाना जरूरी है. इसी के साथ कमरों में एग्जॉस्ट फैन का होना भी जरूरी है जिससे ताजी हवा आती रहे.

Read Also  कोरोना संकट के बीच देश छोड़कर विदेश में बसने की तैयारी में बड़े उद्योगपति और अमीर

एडवायजरी में कहा गया है कि रिहायशी स्थानों पर कमरों में एसी की ठंडी हवा के साथ-साथ थोड़ी सी खिड़की खुली रख कर और एग्जास्ट फैन के द्वारा बाहरी हवा को भी आने देना चाहिए, जिससे कुदरती फिलट्रेशन के द्वारा निकासी हो सके.

इंडियन सोसाइटी ऑफ हिटिंग रेफ्रिजेटिंग एंड एयर कंडिशन इंजीनियर्स (आईएसएचआरएई) का कहना है कि आद्र जलवायु में तापमान 24 डिग्री सेल्सियस तक होना चाहिए जबकि सूखे मौसम में आर्द्रता को दूर किया जाना चाहिए. तापमान 30 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए. उन्होंने कहा है कि हवा की गति को बनाए रखने के लिए पंखे का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) ने देशभर में केंद्र सरकार की इमारतों की देखभाल करने की जिम्मेदारी संभाल रहे अधिकारियों को कोविड-19 महामारी के मद्देनजर एसी को लेकर जारी एडवायजरी का पालन करने को कहा है. उल्लेखनीय है कि सीपीडब्ल्यूडी केंद्र सरकार की प्रमुख निर्माण एजेंसी है.

Read Also  रांची में 18 प्लस वैक्सीनेशन के लिए नहीं करना होगा इंतजार, जिला प्रशासन कर रही है खास तैयारी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.