आज से कभी नजर नहीं आएंगे ये बैंक, जानिए क्यों

by

New Delhi: आज यानी की 1 अप्रैल से सार्वजनिक क्षेत्र के 6 बैंकों का विलय हो चुका है. ये विलय अलग-अलग 4 बैंकों में हुआ है. अगले तीन वर्ष के दौरान इस विलय के जरिए बैंकों को 2,500 करोड़ रुपये का लाभ होने का अनुमान है. विलय की प्रक्रिया पूरी होने के बाद सरकारी क्षेत्र में अब 7 बड़े और 5 छोटे बैंक रह जाएंगे.

साल 2017 तक देश में सार्वजनिक क्षेत्र के 27 बैंक परिचालन में थे. वहीं अब 1 अप्रैल यानि आज  से देश में सरकारी बैंकों की संख्या 18 से घटकर 12 रह जाएगी.

इसे भी पढ़ें: पीएम केयर्स फंड में अनुदान पर सौ फीसदी टैक्‍स की छूट, अध्यदेश जारी

कौन से बैंक किस में हुए विलय

  • पंजाब नेशनल बैंक+यूनाइटेड बैंक+ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स- (पंजाब नेशनल बैंक)
  • केनरा बैंक (Canara Bank)+सिंडिकेट बैंक – (केनरा बैंक)
  • इंडियन बैंक+इलाहाबाद बैंक – (इंडियन बैंक)
  • यूनियन बैंक+आंध्रा बैंक+कॉरपोरेशन बैंक- (यूनियन बैंक)

विलय के बाद 12 सरकारी बैंक रह जाएंगे

  • पंजाब नेशनल बैंक+यूनाइटेड बैंक+ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स- (पंजाब नेशनल बैंक)
  • केनरा बैंक (Canara Bank)+सिंडिकेट बैंक – (केनरा बैंक)
  • इंडियन बैंक+इलाहाबाद बैंक – (इंडियन बैंक)
  • यूनियन बैंक+आंध्रा बैंक+कॉरपोरेशन बैंक- (यूनियन बैंक)
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र

इसे भी पढ़ें: कोरोना ने बेगूसराय में दी दस्तक, दुबई से आए युवक का रिपोर्ट पॉजिटिव

  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • इंडियन ओवरसीज बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • यूको बैंक (UCO Bank)
Categories Finance

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.