कर्नाटका के कोडागू में बाढ़ से 6 लोगों की मौत, 11000 मकान ध्‍वस्‍त: सीएम एचडी कुमारस्‍वामी

Advertisements

#New Delhi: कर्नाटका के सीएम एचडी कुमारस्‍वामी ने कहा है कि बाढ़ के कारण कोडागू में 6 लोगों की मौत हुई है. इससे 11000 घर ध्‍वस्‍त हुए हैं. बैंकों ने बताया कि उनके एटीएम बंद हैं. अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वह बाढ़ में ध्‍वस्‍त सड़कों की लिस्‍ट दें और सड़कों की मरम्‍मती का काम शुरू करें. इसके लिए मौके पर कोडागू में कई अधिकारियों को तैनात किया गया है.

इधर NDRF के डीजी संजय कुमार ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि Kerala में बाढ़ से मुश्किलें कम नहीं हुई हैं. बावजूद इसके बाढ़ प्रभावित Kerala के 8 जिलों में NDRF की 58 टीम को तैनात किया गया है. वहां पर राहत और बचाव कार्य जोरों पर है और NDRF की टीम के द्वारा 170 लोगों का रेस्‍क्‍यू किया गया है. इसके बावजूद वहां पर अब भी 7000 लोगों से ज्‍यादा फंसे हुए हैं. जरूरत पड़ने से वहां पर NDRF की और टीमों को तैनात किया जायेगा.

Kerala के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वे कर रहे हैं पीएम Narendra Modi

इधर बाढ़ से बेजार और त्राहिमाम कर रहे Kerala के हालात का जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री Narendra Modi पहुंच गए हैं. वे आज सवेरे हवाई सर्वेक्षण कर स्थिति का आकलन करेंगे और इसके बाद Kerala के मुख्यमंत्री तथा सरकारी अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे.

इस त्रासदी में महज एक दिन में 106 लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीच आठ अगस्त के बाद से बाढ़ के चलते मृतकों की संख्या बढ़कर 324 हो गई है. 2 लाख लोग बेघर हो चुके हैं. बाढ़ से मध्य Kerala के कई हिस्सों में यातायात व्यवस्था ठप है. पानी भरने से कोच्चि एयरपोर्ट 26 अगस्त तक बंद कर दिया गया है. मुल्लापेरियार समेत सभी 35 डैम भर चुके हैं, जिनसे लगातार पानी छोड़ा जा रहा है.

Kerala रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री ट्वीट कर कहा, ‘मैंने और Kerala के मुख्यमंत्री पी. विजयन ने राज्य में बाढ़ के हालात पर बातचीत की और बचाव कार्यों का जायजा लिया.’ राज्य के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण से जुड़े सूत्रों ने बताया कि बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को बचाने के लिए रक्षा बलों ने शुक्रवार सुबह से बचाव अभियान को तेज कर दिया है.

1 thought on “कर्नाटका के कोडागू में बाढ़ से 6 लोगों की मौत, 11000 मकान ध्‍वस्‍त: सीएम एचडी कुमारस्‍वामी”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.