Take a fresh look at your lifestyle.

हेमंत सरकार के 50 दिन पूरे, भाजपा बोला- अबुआ राज की जगह झारखंड में नक्‍सली राज

0 70

Ranchi: पहले 50 दिनों में चाईबासा में आदिवासियों का नरसंहार, गिरिडीह में जहरीली शराब से दर्जनों गरीबों की मौत और लोहरदगा के सांप्रदायिक दंगों ने सरकार की पोल खोल दी. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने हेमंत सरकार के 50 दिन के कार्यकाल पूरा होने पर कहा की अबुआ राज देने का वादा करके सत्ता में आई गठबंधन सरकार ने पहले 50 दिनों में नक्सलियों के राज को पुनर्स्थापित कर दिया. पिछले 2 दिनों से लगातार गढ़वा और लोहरदगा में नक्सलियों के द्वारा बड़ी वारदातों को अंजाम दिया गया.

प्रतुल ने कहा की नक्सलियों के द्वारा इस सरकार के 50 दिनों के कार्यकाल में 15 बड़ी वारदातों को अंजाम दिया गया है. भाजपा की सरकार ने नक्सलियों को खदेड़ दिया था. आज फिर उनका दहशत का राज्य कायम हो गया है. प्रतुल ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा की भाजपा के शासन काल में सुरक्षित रहने वाली सड़कों पर अब रात में पुलिस के द्वारा वाहनों का काफिला बनाकर एस्कॉर्ट करने की परंपरा शुरू हो गई है.

प्रतुल ने कहा की हाल के दिनों में लेवी और रंगदारी मांगने के नाम पर नक्सलियों के द्वारा जमकर उत्पात मचाया जा रहा है और इनके द्वारा व्यवसायियों को सीधे फोन भी किया जा रहा है. सरकार नक्सलियों को नियंत्रण में रखने में पूरी तरीके से असफल रही है.

प्रतुल ने कहा की गिरिडीह में जहरीली शराब पीकर एक दर्जन से ज़्यादा लोग मर गए और अभी तक इस कांड के असली सरगना की गिरफ्तारी नहीं हो पाई क्योंकि उसे शीर्ष में बैठे लोगों का संरक्षण मिला हुआ है. इस सरकार के पहले 50 दिनों की उपलब्धियों में चाईबासा नरसंहार कांड में सात आदिवासियों की हत्या, लोहरदगा में सांप्रदायिक दंगे और वहां 10 दिन से ज़्यादा लगा कर्फ्यू, जहरीली शराब से गिरिडीह में एक दर्जन से ज़्यादा गरीबों की मौतें शामिल है. पूरे राज्य की विधि व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है. लेकिन मुख्यमंत्री ने अपने पहले 50 दिनों के कार्यकाल का 20 दिन से ज्यादा का समय दिल्ली के कांग्रेस दरबार की हाजिरी में ही बिता दिया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.