Take a fresh look at your lifestyle.

5 सुपर बाइक्स जिनमें लगा है कार का इंजन

0

सुपर बाइक्स क्‍या होता है. एक ऐसी अनोखी बाइक जिसमें हो ज्‍यादा पावर और बैलेंस, तेज रफ्तार. लेकिन ऐसी बाइक्‍स हर किसी के पास होना पॉसिबल नहीं है. लेकिन सुपर बाइक्स की महंगी कीमत को चैलेंज देते हुए कुछ इंडियंस ऐसे हैं, जिन्‍होंने खुद से सुपर बाइक्‍स की प्‍लान की. सुपर बाइक्‍स का पावर, बैलेंस और स्‍पीड प्‍लान करके खुद की सुपर बाइक्स बना डाली. ऐसे वो कौन से सुपर बाइक्स हैं और उनमें क्‍या फीचर्स हैं आइए जानते हैं.

Like पर Click करें Facebook पर News Updates पाने के लिए

पेश हैं इंडिया में बनी ऐसी ही 5 सुपर बाइक्स जिनमें कार का इंजन लगा है.

Maruti ‘TrailBlazer’

ये मोटरसाइकिल पुणे की है और इसे Nilesh Sarode द्वारा बनाया गया है. ये मोटरसाइकिल ऐसी दिखती है मानो चक्कों पर कोई ड्रैगन हो और इसके 99% पार्ट्स हाथों से बने हैं. इसके फ्रंट शॉकर्स KTM Duke से लिए गए हैं वहीँ ब्रेक्स Bajaj Pulsar से. Trailblazer में Maruti 800 का 3-सिलिंडर इंजन है. इसके चेसी को ख़ास इसी के लिए बनाया गया है और इसके इंजन को सीधे लगाया गया है. इसका फाइनल ड्राइव एक शाफ़्ट है जिससे कम से कम पॉवर लॉस होता है. फ्लैट प्रोफाइल रियर टायर कार से लिया गया है.

मोटरसाइकिल का डिस्प्ले कंसोल सीधे Maruti 800 से लिया गया है. बाइक का गियरबॉक्स भी इसी कार से लिया गया है. बाइक का रियर फेंडर फ्यूल टैंक का भी काम करता है. इसे यहाँ इंजन की गर्मी से बचाने के लिए लगाया गया है. इस मोटरसाइकिल को बनाने में 5 महीने का समय लगा. इसके एनिगने 45 बीएचपी उत्पन्न करता है और बिना फ्यूल के बाइक का वज़न 350 किलो है.

Maruti ‘Ridd’

कहते हैं की अपने सपने पूरे करने में थोडा वक़्त लगता है और ये गुजरात के राजकोट में रहने वाले Riddhesh Vyas पर भी लागू होता है जिसने अपनी सपनों की 1000 सीसी सुपर बाइक बनाने के लिए 8 वर्षों का समय लिया. इस चॉपर में Maruti 1000 का 1000 सीसी इंजन लगा है और इसमें कई सारे हाथ से बने कस्टम पार्ट्स इस्तेमाल किये गए हैं. इसके फ्रंट फोर्क्स रेक्ड हैं और मोटरसाइकिल की लम्बाई 9 फीट है. इस मोटरसाइकिल का वज़न 400 किलो है. Ridd में हाइड्रोलिक क्लच, सिंगल साइड स्विंग आर्म, और स्विंग आर्म इंटीग्रेटेड सस्पेंशन है. इसकी टॉप स्पीड लगभग 170 किमी/घंटे की है. Ridd ने इंडिया की पहली हाथ से बनी सुपरबाइक होने के लिए Limca Book of Awards का खिताब भी जीता है.

Yamaha ‘Gypsy’

ये इंडिया की पहली हाथ से बनी सुपर बाइक थी. इसे पंजाब के चंडीगढ़ के Jeevanjit Singh ने बनाया था. इस बाइक की शुरुआत एक कॉलेज प्रोजेक्ट के रूप में हुई थी. इस मोटरसाइकिल में Maruti Gypsy का 1.3-लीटर MPFI इंजन है. इसका गियरबॉक्स RD 350 से लिया गया है और इसमें बड़े बदलाव किये गए हैं. इस मोटरसाइकिल का फ्रेम कई मॉडर्न मोटरसाइकिल्स के ट्रेलिस फ्रेम से प्रेरित है. इस बाइक के सिंगल साइड स्विंगआर्म में Tata Safari का टायर है. इस मोटरसाइकिल का वज़न 300 किलो है और ये 160 किमी/घंटे तक की रफ़्तार तक पहुँच सकती है.

Maruti ‘Steel Rhino’

Steel Rhino एक मॉडिफिकेशन जॉब है जिसे Dehradun के एक कस्टम हाउस ने किया है. इस मोटरसाइकिल में Yamaha RD 350 का चेसी इस्तेमाल किया गया है. इसका फ्यूल टैंक हाथ से बना है और इसे खूबसूरत आकार दिया गया है. इसमें Maruti 800 का इंजन और Yamaha RD 350 का गियरबॉक्स लगा हुआ है. इसके अतिरिक्त वज़न को हैंडल करने के लिए इस मोटरसाइकिल में क्वाड फ्रंट शॉकर्स हैं. इसमें आगे 15 इंच और पीछे 17 इंच के टायर्स लगे हैं. इस मोटरसाइकिल को 185 किमी/घंटे तक की टॉप स्पीड तक पहुँचने के लिए टेस्ट किया गया है. इस मॉड जॉब को पूरा करने में लगभग 4 लाख रूपए लगे थे.

Royal Enfield-Maruti ‘Interceptor’

Royal Enfield Interceptor अपने समय की बेहद पॉपुलर मोटरसाइकिल थी. इसका मॉडिफिकेशन जॉब अपने समय में बेहद पॉपुलर था. ये मॉडिफिकेशन भी Interceptor से प्रेरित थी लेकिन इसमें Maruti 800 का इंजन लगा था. इस मोटरसाइकिल को ऐसे मॉडिफाई नहीं किया गया है लेकिन इसका चमकीला इंजन काफी विसिबल है. इसका रेडियेटर ओरिजिनल इंजन की जगह लगा हुआ है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More