Take a fresh look at your lifestyle.

राहे के बंसिया, बंसतपुर, दोवाडु पंचायत के सभी गांव में जलापूर्ति के लिए 19 करोड़ की योजना, पीपीआर तैयार

0 1
  • सिल्ली प्रखण्ड के हलमाद, हाकेदाग और पिस्का पंचायत के सभी गांव के लिए अलग से योजना तैयार करने का निर्देश दिया
  • सोनाहातू पूर्वी की सभी सात पंचायतों और जोन्हा फॉल के गांवों और टोलों में भी पाइप से पहुंचेगा पानी
  • सिल्ली-मूरी जलापूर्ति योजना का सुदृढ़ीकरण होगा, पाइप लाइन का होगा विस्तार
  • पेयजल स्वच्छता मंत्री ने बैठक कर इंजीनियरों को दिए कई निर्देश

Ranchi: कांके रोड, रांची स्थित आवास पर आज विभाग के आला इंजीनियरों के साथ बैठक कर सिल्ली विधानसभा क्षेत्र के सिल्ली, सोनाहातू, जोन्हा और राहे में जलापूर्ति योजनाओं की समीक्षा की. उन्होंने बंसिया, बसंतपुर, दोवाडु पंचायत के सभी गांव को मिलाकार जलापूर्ति योजना पर शीघ्र काम शुरू कराए जाने का निर्देश दिया. पूर्व उपमुख्यमंत्री श्री सुदेश कुमार महतो ने बंसिया, बसंतपुर, पोगड़ा से जनसंवाद कार्यक्रम की शुरूवात की थी.

बैठक में अभियंता प्रमुख के अलावा रांची के अधीक्षण अभियंता, कार्यपालक अभियंता भी शामिल थे. मंत्री ने कहा है कि गांव-गांव पानी पहुंचाना सरकार की प्रतिबद्धता रही है. सिल्ली, सोनाहातू, राहे और जोन्हा के गांवों में जिन इलाकों में पानी का संकट होता रहा है, उसे मैप में जरूर शामिल किए जाएं.

गौरतलब है कि राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुदेश कुमार महतो ने पेयजल मंत्री को इन गांवों की ओर मंत्री का ध्यान दिलाते हुए योजना निर्माण पर जोर दिया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि इंजीनियरों की एक टीम इन इलाकों का दौरा कर स्थिति की समीक्षा करें, ताकि पेयजल की समस्या का मुकम्मल समाधान हो सके. श्री महतो ने मंत्री को बताया है कि सिल्ली मूरी जलापूर्ति योजना का विस्तार और सुदृढ़ीकरण भी जरूरी है. जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणों ने उन्हें पानी की परेशानी से अवगत कराया है. इसके बाद मंत्री ने यह कदम उठाया है.

पेयजल मंत्री ने सिल्ली प्रखण्ड के हलमाद, हाकेदाग और पिस्का पंचायत के सभी गांव के लिए अलग से योजना तैयार करने का निर्देश दिया है. उन्होंने इंजीनियरों से कहा है कि इन तीनों पंचायतों के सभी गांवों के लिए डीपीआर तैयार कर पाइप लाइन से जलापूर्ति की व्यवस्था की जाए.

सोनाहातू पूर्वी इलाके में जलापूर्ति की योजनाओं की तैयारियों के बारे में जानकारी लेते हुए मंत्री ने निर्देश दिया है कि इस इलाके की सात पंचायतों में पाइप से जलापूर्ति के लिए अलग से योजना बनाई जाए. उन्होंने कहा है कि यथाशीघ्र सभी योजनाओं की डीपीआर को स्वीकृति दी जाए, ताकि उन पर काम शीघ्र प्रारंभ कराया जा सके.

सिल्ली-मूरी जलापूर्ति योजना

मंत्री ने सिल्ली और मूरी जलापूर्ति योजना की समीक्षा की. इन योजनाओं का सुदृढ़ीकरण करते हुए पाइप लाइन का विस्तार किया जाए, ताकि आस-पास के सभी गांवों को पाईपलाईन से पीने का पानी मिल सके.

उन्होंने कहा कि सिल्ली-मूरी शहरी और निचले इलाके की गांवो एवं टोलों में हर घर को शुद्ध पानी और नियमित तौर पर मिले, इसके लिए जमीनी स्तर पर समीक्षा कर योजना को कार्यरूप दिया जाए. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सिल्ली में पदस्थापित इंजीनियरों से जल्दी ही रिपोर्ट मंगाई जाए.

जोन्हा फॉल के गांवों में पाइप से पानी

मंत्री ने इंजीनियरों को यह भी निर्देश दिया है कि जोन्हा फॉल के आस-पास गांवों में पाइप से पानी पहुंचाने की कार्ययोजना तैयार करें. जरूरत हो, तो राज्य मुख्यालय से इंजीनियरों की एक टीम बनाकर सिल्ली, मूरी, सोनाहातू, राहे और जोन्हा की योजनाओं की समीक्षा कराई जाए. मंत्री ने समय का ध्यान रखने को कहा है.

अभियंता प्रमुख श्वेताभ कुमार ने मंत्री को जानकारी दी है कि पूर्व के निदेशानुसार बंसिया, बसंतपुर एवं दोवाडू पंचायत के सभी गांवो को मिलाकर पीपीआर तैयार की गई है. इस योजना पर लगभग 19 करोड़ खर्च आएगी. सोनाहातू पूर्वी के सात पंचायतों दुलमी, जिलिंगसेरेंग, बारेंदा, हारेन, पंडाडीह, लाधुपडीह, हेसाडीह में शीध्र सर्वे कराकर पीपीआर तैयार किया जाएगा. 22 अगस्त को अभियंताओं का दल सिल्ली तथा मूरी जलापूर्ति योजना के समीक्षा हेतु भेजी जाएगी. साथ ही अन्य योजनाओं पर भी तेजी से डीपीआर बनाने का कार्य किया जाएगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.