महाराष्‍ट्र में बढ़ा कोरोना वायरस का कहर, उद्धव सरकार ने लगाया पूरे राज्‍य में 15 दिन का कर्फ्यू

by

Mumbai: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का कहर दिन दुनी रात चौगुनी की रफ्तार से बढ़ता जा रहा है. राज्‍य में कोविड 19 संक्रमितों के आंकड़ों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. रोजाना हजारों की संख्या में मामले सामने आ रहे हैं. इसी के मद्देनजर कोरोना वायरस के दूसरे दौर के कहर को कड़ाई से रोकने के लिए उद्धव सरकार ने हालात पर गौर करते हुए 14 अप्रैल रात आठ बजे से 15 दिनों का राज्यव्यापी कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है.

महाराष्‍ट्र राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि नये मामलों के सामने आने के साथ राज्य में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़ कर 35,19,208 हो गई, जबकि अब तक कुल 58,526 लोगों की महामारी से मौत हो चुकी है.

महाराष्‍ट्र में 15 दिनों का राज्‍यव्‍यापी कर्फ्यू

संक्रमण के मामले चिंताजनक तरीके से बढ़ने के मद्देनजर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे नीत महाविकास आघाडी सरकार ने 14 अप्रैल से 15 दिनों का राज्यव्यापी कर्फ्यू लगाने की मंगलवार को घोषणा की. उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह कर रहे हैं कि महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की मांग को पूरा करने के लिए वह पश्चिम बंगाल से या पूर्वोत्तर राज्यों से ऑक्सजीन की आपूर्ति करने के लिए सैन्य विमान भेजें.

ठाकरे ने राज्य के लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि बुधवार की रात आठ बजे से कर्फ्यू शुरू होगा और आवश्यक सेवाओं को इससे छूट दी गई है.

जरूरतमंदों को चावल और गेंहूं मुफ्त

ठाकरे ने कहा कि ”लॉकडाउन की तरह” पाबंदियां लागू रहने तक आपराधिक दंड प्रक्रिया की धारा 144 (निषेधाज्ञा) लागू रहेगी. हालांकि, उन्होंने नई पाबंदियों को लॉकडाउन नहीं कहा. ठाकरे ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण जारी निषेधाज्ञा के चलते राज्य सरकार अगले एक महीने तक हर गरीब एवं जरूरतमंद व्यक्ति को तीन किलोग्राम गेहूं और दो किलोग्राम चावल नि:शुल्क मुहैया कराएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की आपूर्ति और बिस्तरों की कमी है और रेमडेसिविर इंजेक्शन की मांग बढ़ गई है. उन्होंने कहा कि केंद्र को वायुसेना के विमानों का इस्तेमाल कर राज्य में कोरोना वायरस के रोगियों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति करने में मदद करनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा, ”कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध एक बार फिर शुरू हो गया है.” उन्होंने कहा कि कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी होने से महाराष्ट्र के स्वास्थ्य ढांचे पर दबाव काफी बढ़ गया. ठाकरे ने कहा कि अभी स्पष्ट नहीं है कि संक्रमण की दूसरी लहर अपने चरम पर पहुंच चुकी है या नहीं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.