Take a fresh look at your lifestyle.

5 महिलाओं के हत्‍या मामले में 13 दोषियों को सजा

0

#Ranchi : रांची के नीचली अदालत ने पांच महिलाओं की हत्‍या के मामले में 13 लोगों को सजा सुनाई है. मांडर में पांच महिलाओं की डायन बिसाही का आरोप लगाकर हत्या किया गया था. इस मामले में अपर न्यायायुक्त एसएस प्रसाद की अदालत ने गुरुवार को 13 दोषी करार दिाया. दोषियों को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनायी है.

Like पर Click करें Facebook पर News Updates पाने के लिए

जिन लोगों को कोर्ट ने सजा सुनाई गई उनमें बरनावास खलखो, जेवियर खलखो, मोजेश खलखो, कृष्णा खलखो, बलदेव खलखो, सनु उरांव, अरुण बाड़ा, सनु खलखो, संदीप खलखो, अलबिनूस खलखो, सचिन खलखो, राजेश तिग्गा और रोमित खलखो शामिल है.

मामले में अदालत ने 27 आरोपियों को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया गया है. अपर लोक अभियोजक परमानंद यादव ने बताया कि यह मामला तीन वर्ष पूर्व मांडर के कंजिया गांव के मरई टोली की है. वहां एक साथ पांच महिलाओं को निर्वस्त्र कर लाठी डंडे से पीटकर हत्या कर दी गयी थी.

मामले में चार अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. इसमें एसटी 354/16,एसटी 346/16, एसटी 347/16 और एसटी 2/16 शामिल है. चारों मामलों में अलग-अलग धराओं में सभी को सजा सुनायी गयी है. इसमें भादवि की धारा 302, 354, 3 और बिच क्राफ्ट 4 की धारा शामिल है. धारा 302 के तहत आजीवन कारावास,25 हजार का जुर्माना और छह माह की सजा. धारा 354 के तहत 5 साल, 10 हजार का जुर्माना और तीन माह. के तहत 5 साल की सजा, एक हजार का जुर्माना, 15 दिन की सजा और धारा 4 के तहत छह माह, दो हजार और एक माह की सजा सुनायी गयी है.

अपर लोक अभियोजक ने बताया कि मामले में कुल 42 आरोपी थे. इनमें एक बुधु खलखो की मौत हो गयी. जबकि एक नाबालिग विजय खलखो है. बचे 40 आरोपियों में से 27 को बरी कर दिया गया. बरी होने वाले आरोपियों में बिगु उर्फ बिलू उरांव, विश्वनाथ खलखो, पंचु उरांव, बिरसा उरांव, अनिल खलखो, विश्वनाथ उरांव, मनोज उरांव, जीतवाहन उरांव, लिटबा खलखो, सुभाष खलखो, विनोद कुजूर, राजू कुजूर, चुन्नी खालखो, जगरनाथ उरांव, मांगे कुजूर, सोमरा खालखो, चमरा खलखो, बबलू कुजूर, गंदरु खलखो, जॉन खलखो, क्लेमेंट खलखों, कुसुम खलखो, गंभीर खलखो राजेश तिग्गा, रोपो महतो, संजय खलखो, भगत बिहारी खलखो शामिल है.

गौरतलब है कि 8 अगस्त 2015 को मांडर के कंजिया गांव के मरई टोली में को 12 बजे रात में डायन बिसाही कुप्रथा को लेकर ग्रामीणों ने पांच महिलाओं की हत्या एक साथ कर दी गई थी. जिन महिलाओं की हत्या की गई थी उसमें मदनी खलखो, एतवरिया खलखो, जसिंता खलखो, तेतरी खलखो और रतिया खलखो शामिल थीं. इन महिलाओं को निर्वस्त्र कर लाठी डंडे से पीटकर और पत्थर से कूचकर हत्या की गई थी. मामले को लेकर मांडर थाने में अलग-अलग 4 प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More