इन स्किल्स के जरिए बना जा सकता है, एक सफल पीआर आंत्रप्रेन्योर

by

एक ब्रांड के प्रचार के लिए पीआर द्वारा मीडिया हाउस (अखबारों) में केवल प्रेस रिलीज़ ही लगवाई जाती है, अमूमन आम लोगों की यही धारणा होती है, लेकिन पीआर के बहुत से पहलुओं के बारे में बहुत से लोग अज्ञात होते है. प्रसिद्ध पीआर कंपनी के संस्थापक अतुल मलिकराम के अनुसार पब्लिक रिलेशन इंडस्ट्री में संभावनाएं और प्रतियोगिता बहुत ज्यादा है. इस फिल्ड में भविष्य बनाने के लिए आपके पास तीव्र और चतुर बुद्धि का होना आवश्यक है. पीआर ऑडियंस के दिमाग को ऑब्ज़र्व करता है, ताकि किसी भी कंपनी की स्ट्रेटेजी निर्धारित की जा सके. इसलिए पीआर में भविष्य बनाने के लिए आपके अंदर इम्प्रेसिव कम्युनिकेशन, टेक्नीकल नॉलेज और एक्स्ट्रा स्किल्स का होना बहुत जरुरी है। पीआर में भविष्य बनाने का सपना देखने से पहले आपका मीडिया और ब्रांड से अच्छी तरह से परिचित होना भी बेहद जरुरी है।

कम्युनिकेशन

पब्लिक रिलेशन में भविष्य बनाने का सपना देखने वालो के अंदर इम्प्रेसिव कम्युनिकेशन का होना अत्यंत आवश्यक है। एक प्रभावी कम्युनिकेशन के बिना एक प्रभावी पीआर की कल्पना नहीं की जा सकती। किसी भी ब्रांड को उसकी टारगेट ऑडियंस तक पहुंचाने के लिए कम्युनिकेशन की आवश्यकता होती है। प्रेस रिलीज़ लिखने से लेकर मीडिया में कम्यूनिकेट करने तक कम्युनिकेशन के दौरान एक छोटी सी गलती भी आपके ब्रांड को बहुत बड़ा नुकसान पंहुचा सकती है। इसके साथ ही पीआर आंत्रप्रेन्योर को प्रभावी रूप से शब्दों का ज्ञान होना भी आवश्यक है ताकि वह ओरल और रिटन दोनों तरह से ऑडियंस को आकर्षित कर सके.

क्रिएटिविटी

आज के समय में लोगों के पास खुद को दो पल का सुकून देने के लिए वक़्त नहीं है. ऐसे में लोगों का ध्यान अपनी और आकर्षित करने के लिए प्रचारकों का क्रिएटिव होना बहुत जरुरी है. इसलिए पीआर आंत्रप्रेन्योर के पास नए-नए क्रिएटिव आइडियाज का होना चाहिए, ताकि वह अपने ब्रांड को अन्य ब्रांड्स की भीड़ से जुदा बना सके. पीआर आंत्रप्रेन्योर को नए विचारों के साथ रचनात्मकता दिखानी होगी. ब्रांड कैंपेनिंग के लिए नए आइडियाज और क्रिएटिव थॉट्स ब्रांड को बाज़ार में ज्यादा सफल बनाएंगे.

विश्वसनीयता

विश्वसनीयता एक पीआर आंत्रप्रेन्योर को अन्य प्रोफेशनल्स से अलहदा बनाती है. किसी भी ब्रांड से रिलेटेड स्टोरी के लिए किसी पत्रकार को पिच करने के लिए उसका विश्वास जीतना जरुरी होता है. यह आपके थॉट्स और आइडियाज की शक्ति को दर्शाता है. इसमें आपकी कम्युनिकेशन क्षमता का भी महत्वपूर्ण योगदान होता है. आपको यह समझाते आना चाहिए कि आपके ब्रांड की विशेषता क्या है, वह किस तरह की सुविधा प्रदान करेगा, और इससे लोगों को किस तरह का लाभ होगा.

वर्सेटाइल और मल्टीटास्किंग

एक अच्छा पीआर आंत्रप्रेन्योर वर्सेटाइल और मल्टीटास्किंग होना चाहिए। एक ही समय में उसमे प्रेस इवेंट, मीटिंग डेडलाइन और अन्य क्लाइंट्स को हैंडल करने की क्षमता और तरीका पता होना चाहिए. एक पीआर स्पेशलिस्ट अपने क्लाइंट्स के लिए मीडिया में हो रही हर गतिविधि के लिए जिम्मेदार होता है. चाहे वह  प्रेस ईवेंट, इंटरैक्शन, गेट-टुगेदर हो या अन्य कोई  गतिविधि उसके पास सभी तरह के अधिकार होते है. इसके अलावा, एक पीआर मैनेजर 24×7 काम करता है। आपको किसी भी समय काम करने के लिए तैयार होना चाहिए।

मीडिया में रुचि

मीडिया और पीआर एक ही गाड़ी के दो पहिए है.  पीआर प्रैक्टिशनर होने का मतलब है, मीडिया के बारे में विस्तृत जानकारी होना. एक अच्छे पीआर प्रोफेशनल को करंट अफेयर्स और खबरों का ज्ञान होना चाहिए. उसमे हमेशा कुछ नया सिखने की ललक होनी चाहिए, जिससे वह ब्रांड के लिए प्लानिंग कर सकें. अखबार की कौन सी खबर आपके ब्रांड को प्रभावित कर सकती है, इसलिए एक पीआर स्पेशलिस्ट को ख़बरों का विश्लेषण भी करना होता है. विशेष रूप से, प्रोफेशनल पीआर हमेशा मीडिया के साथ एक अच्छा और मैत्रीपूर्ण संबंध बनाए रखते हैं.

टेक्नोलॉजी का ज्ञान

आज के समय में जिस तरह से दुनिया डिजिटल हो रही है. हर कोई डिजिटल की ओर रुख कर रहा है. इसलिए एक प्रोफेशनल पीआर को  डिजिटल मार्केटिंग, डिजिटल कटेंट, SEO , कंटेंट क्रिएशन, आदि का ज्ञान भी होना चाहिए. डिजिटल मीडिया ने पीआर इंडस्ट्री पर गंभीर प्रभाव डाला है. इसलिए डिजिटल मीडिया के लिए एक अलग प्रकार की स्ट्रेटेजी बनाना पड़ती है. ब्रांड को ऑडियंस से जोड़ने के लिए विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म की जरुरत पड़ती है. इसलिए विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म की जानकारी होना आवश्यक है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.