पैदल दिल्ली से बिहार जा रहे युवक को रास्ते में हुआ प्यार और सीधे दुल्हन लेकर पहुंचा घर

by

Patna: साल 2020 यूं तो काफी चीज़ों के लिए चर्चा में रहा, जिनमें प्रमुख कोरोना वायरस और लॉक डाउन ही रहा. लेकिन इसके अलावा भी काफी कुछ हुआ जो ख़बरों में सुर्खियां बना.

मई का महीना था, कोरोना से बचाव को लॉकडाउन लगा था. प्रवासी मजदूरों को पैदल ही अपने घरों की ओर रवानगी करनी पड़ी. इस बीच एक चौंकाने वाली खबर आयी, जो वायरल हो गयी. लॉकडाउन के कारण एक मजदूर पैदल ही अपने घर के लिए रवाना हुआ, बिहार के सीतामढ़ी का रहने वाला सलमान अपने परिवार के साथ दिल्ली से बिहार अपने घर जा रहा था, जब वह हरियाणा के पलवल पहुंचा.

Read Also  बिहार-यूपी में सबसे तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मरीज, जानें झारखंड में स्थिति कितनी भयावह

सलमान को मिली जीवन साथी

इस रास्ते पर सलमान को अपनी जीवन साथी मिल गयी, इस सफर ने उन्हें अपने प्यार से मिलाया है. सलमान अपने परिवार के साथ 18 मई, 2020 को दिल्ली से बिहार के लिए रवाना हुए, जब हरियाणा के पलवल और बल्लभगढ़ के बीच यात्रा की थकान के कारण पहुंचे, तो उनके परिवार ने उसी समय रुकने और आराम करने का फैसला किया.

उनके पिता के एक मित्र से मुलाकात हुई, वह भी बिहार जा रहे थे, जिसमें शहनाज़ भी शामिल थे, दोनों परिवार बिहार के लिए रवाना हो गए, इस दौरान दोनों परिवार एक साथ भोजन करते थे और जहाँ दोनों परिवारों को आराम करना होता था. लेकिन वे रोकते थे, सलमान और शहनाज़ की आदतें ज्यादातर समान थीं, उनकी खाने की शैली लगभग समान थी.

Read Also  बिहार-यूपी में सबसे तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मरीज, जानें झारखंड में स्थिति कितनी भयावह

जैसे ही सलमान और शहनाज़ का परिवार आगरा पहुंचा, दोनों के बीच बातचीत शुरू हो गई, सलमान ने शाहमान से पूछा कि यह कौन सा शहर है? सलमान ने तब शहनाज़ से कहा कि यह ताजमहल का शहर है, तब शहनाज़ ने सलमान से पूछा कि क्या वह ताजमहल दिखा सकते हैं, तो सलमान को एहसास होने लगा कि हम दोनों की सोच बहुत मिलती-जुलती है.

नोंक-झोंक के बाद राजी हुए शादी के लिए

कानपुर के बाद इन दोनों परिवारों के बीच काफी बहस हुई, जब ये परिवार गोरखपुर पहुँचे. सलमान और शहनाज़ के बीच कुछ बातचीत जब वे चले गए, लेकिन दोनों के परिवार को फिर से संदेह होने लगा और उन्होंने फैसला किया कि वे अलग-अलग समय पर अपने घर के लिए निकलेंगे, लेकिन सलमान ने इस बात को से इंकार कर दिया, कहा कि साथ चलने में क्या दिक्कत है.

Read Also  बिहार-यूपी में सबसे तेजी से बढ़ रहे हैं कोरोना के मरीज, जानें झारखंड में स्थिति कितनी भयावह

उनके पिता ने समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वे सहमत नहीं हुए और कहा कि मैं शहनाज को ही ले जाऊंगा, दोनों परिवारों के बीच लंबी बातचीत हुई, लेकिन सलमान और शहनाज़ की जिद के आगे इन दोनों परिवारों को झुकना पड़ा और आखिरकार उनकी शादी के लिए राजी हो गए, शाम को उनकी शादी हुई.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.