जितनी ज्यादा करेंगे बिजली की खपत, उतनी कम होगी सब्सिडी की राशि

by

#Ranchi

: झारखंड में बिजली के नये टैरिफ के अनुसार बिल का वितरण शुरू हो गया है. जिन उपभोक्ताओं द्वारा 200 यूनिट तक बिजली खर्च की जा रही है, उन्हें 2.20 रुपये प्रति यूनिट तक सब्सिडी का लाभ मिल रहा है.
पर जिनका भी 201 यूनिट या इससे अधिक हुआ, उनकी सब्सिडी की दर 1.50 रुपये प्रति यूनिट हो जायेगी. 500 यूनिट से अधिक होने पर सब्सिडी की दर घटकर 1.25 रुपये प्रति यूनिट हो जायेगी. वहीं 800 यूनिट से अधिक होने पर सब्सिडी दर घटकर 50 पैसे प्रति यूनिट की हो जायेगी.
नये बिल के अनुसार शहरी क्षेत्र के उपभोक्ताओं के फिक्सड चार्ज और इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी में कोई रियायत नहीं दी गयी है. फिक्सड चार्ज 75 रुपये प्रति माह है और इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी 20 पैसे प्रति यूनिट की दर से ली जा रही है. इसमें कोई रियायत नहीं

है.

फिक्सड चार्ज और इलेक्ट्रसिटी में कोई रियायत नहीं
200 यूनिट तक खर्च किये, तो 2.20 रुपये प्रति यूनिट तक मिलेगी सब्सिडी
201 यूनिट होते ही सब्सिडी की दर घट कर हो जायेगी 1.50 रुपये प्रति यूनिट
500 यूनिट से अधिक होने पर सब्सिडी की दर हो जायेगी 1.25 रुपये प्रति यूनिट
800 यूनिट से अधिक होने पर सब्सिडी की दर हो जायेगी 0.50 रुपये प्रति यूनिट
विलंब होने पर लग सकता है झटका
झारखंड बिजली वितरण निगम द्वारा ऊर्जा मित्रों के माध्यम से बिल का वितरण किया जा रहा है. एक ऊर्जा मित्र पर 1200 उपभोक्ताओं को लोड है. यानी ऊर्जा मित्र ने यदि देर की तो 200 यूनिट से अधिक खपत हुआ, तो सब्सिडी में 70 पैसे प्रति यूनिट का अतिरिक्त बोझ पड़ सकता है. हालांकि, निगम द्वारा सभी ऊर्जा मित्रों को अविलंब बिल का वितरण करने का आदेश दिया गया है.
क्या है दर और सब्सिडी
श्रेणी खपत नयी दर(प्रति यूनिट) सब्सिडी दर प्रभावी दर
डोमेस्टिक रूरल मीटर्ड 0-100 4.40 3.00 1.40
डोमेस्टिक रूरल मीटर्ड 0-200 4.75 3.00 1.75
डोमेस्टिक रूरल मीटर्ड 200 से अधिक 4.75 3.00 1.75
डोमेस्टिक अरबन 0-200 यूनिट 5.50 2.20 3.25
डोमेस्टिक अरबन 201-500 यूनिट 5.50 1.50 4.00
डोमेस्टिक अरबन 500-800 यूनिट 5.50 1.25 4.25
डोमेस्टिक अरबन 800 यूनिट से अधिक 5.50 0.50 5.00
डोमेस्टिक एचटी (अपार्टमेंट या कॉलोनी) सभी यूनिट में 5.25 1.25 4.00
कॉमर्शियल रूरल 0-100 5.25 3.00 2.25
कॉमर्शियल रूरल 100 यूनिट से अधिक 5.25 2.75 2.50
कृषि और सिंचाई निजी — 5.00 3.80 1.20

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.